.

.
** हेलो जिन्दगी * * तुझसे हूँ रु-ब-रु * * ले चल जहां * *

Thursday, December 13, 2012

जाओ जाओ u go









थम सी जाती है जिन्दगी
जब जब कहती हूँ तुम्हे
"ok ok .. जाओ जाओ  u go byeeee......
कैसे कहूँ  मेरी हर 
bye कहना चाहे ..
रुको न थोड़ी देर और  ...
करो मुझसे बातें थोड़ी और 

लगने लगा जाने  क्यूँ
संवेदनाएं जमने सी लगी है
"formalities " का चल रहा दौर
चाहूँ  खो दूँ  खुद को फिर से
गुम  हो जाऊ दुनिया की  भीड़ में
घुल जाऊ  हवाओ में धुआं बन के
"u r  spacial " का वो अहसास
अब वजूद खोने लगा है .....

जानती हूँ  तुम तक  नही पहुचेगा 
मेरा ये पैगाम शायद .....
फिर भी कर रही  हूँ  type

एक  आस  कहीं जिन्दा है मन में
शायद  कभी किसी दिन
शाम  को फुर्सत में  fb on करते ही
एक  unread notification ....

pop up हो जाये तुम्हारे desktop पे
और  देख कर मेरा  name 

हो जाये नजरे इनायत तेरी
flashback में घूमते हुए
तुम पढो इसे और  like  कर दो
कुछ पुराने एहसासों  की कद्र करते हुए 

 "nice " का  एक " comment"  "भी कर दो
अरे रे रे रे  नही .... न अटको तुम  यहाँ
नहीं चाहती .. फिर उमड़े तेरे जज्बात
और रुक जाये तेरे बढ़ते कदम
मैं तो चलती रहूंगी तेरे संग ...
तेरी परछाईं बन ...
चलो " off"यह  पुरानी " post "

शुक्रिया  ... thnx for liking n comment
ok.. ok.. जाओ  जाओ ..u goooo
tata byeee byeee ...go u goooo :)
Post a Comment
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...