.

.
** हेलो जिन्दगी * * तुझसे हूँ रु-ब-रु * * ले चल जहां * *

Tuesday, December 27, 2016

उन तक पहुंचेगी सदा मेरी


1) 
टेढ़े  है रस्ते लगेगी जरा देरी
उन तक पहुंचेगी सदा मेरी ।
वो जो जीते रहे तुम्हे देख कर
उनको मार डालेगी खता तेरी ।
2)

कुछ पल तुझसे  बतला   लूँ तो चलूँ
तस्वीर  नयनो में बसा  लूँ तो चलूँ
कहते थे मुझको कभी जो  जिंदगी
जिन्दा हूँ अब तक बता दूँ तो चलूँ 
Post a Comment
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...